प्रतिभा के धनी शिक्षाकर्मी साथी महेतरु मधुकर pratibha ke dhani shikshakarmi saathi mahetru madhukar

1

साथियों कुछ दिन पहले जिला मुंगेली से हमारे शिक्षाकर्मी साथी के उत्कृष्ट कार्य को आप सबके समक्ष लाया था, आज ऐसे ही शिक्षाकर्मी परिवार का गौरव को ला रहा हूँ जो हमारे ही बीच के साथी है। शिक्षाकर्मियों की काबिलियत और प्रतिभा आप सबके समक्ष प्रस्तुत है जो हम सबके लिए गौरव की बात है।
तो आइये उस साथी से मिलते है जो लेखन कला के धनी हमारे शिक्षाकर्मी परिवार को गौरवान्वित कर रहा है। ये साथी है श्री महेतरु मधुकर जी।

*महेतरु  मधुकर
सहायक शिक्षक पंचायत
*पिता -श्री झग्गर राम मधुकर
*माता -श्रीमती पुसाई देवी
*जनपद प्राथमिक शाला केवतरा
वि. ख. मस्तूरी, जिला-बिलासपुर

*पता-
ग्राम व पोस्ट पचपेडी
तह मस्तूरी
जिला बिलासपुर
छत्तीसगढ़

मधुकर जी कविता लेखन में पारंगत है और हर क्षेत्र में प्रभावी कविता लेखन करते है। इनके प्रतिभा का सम्मान अखबार में इनकी कविता प्रकाशित कर किया जाता है। हाँ मधुकर जी कविता अखबारों में प्रकाशित होती रहती है,

उनके कविता का एक नमूना आप भी पढ़िये –

* हम जगे तो क्या जगे *
“””””””””””””””””””””””””””
हम जगे तो क्या जगे
है सार्थक, जब जहां जगा  जगायेंगे
हम संभले तो क्या संभले
सफल है तब, जब
नव पीढी संभलना सीखा जायेंगे……….

भटके, पिछडे है देखो भाई हमारे
संकीर्णता, अभावों में वे दिन गुजारे
अंधविश्वास और धर्मान्धता के
भय और भ्रम भगा जायेंगे………………

हम बने शिक्षित ये नही पर्याप्त
कुरीति मिटाये समाज में व्याप्त
हम सपूत इस भव्य राष्ट् के
वीरता अपनी दिखा जायेंगे……………..

भ्रष्टता की राह देखो भाये
निष्ठा, सौहाद्र नही रे आये
स्वर्ग सम यह धरती अपनी
मिलकर मेहनत से बना जायेंगे,…….,.

हम बढते है निज पथ मंजिल पर
उन्हें भी सीखाये चलना मुश्किल पर
नहीं अंतर मानव मध्य हो
दे सहारा, उन्हें भी बढा जायेंगे…,……….

सबल राष्ट, समाज, मनुज बनाना है
सेवा, आदर, समर्पण भाव सीखाना है
रच रख देंगे हम इतिहास नया
नव गीत ऐसा गुनगुना जायेंगे…………..

मिटादें जब रूढी अज्ञानता
असल तब समझो सफलता
हम जान गये जो राह उन्नति की
औरों को भी बता जायेंगे………………..

साथियों मधुकर जी कविता संग्रह का एक पुस्तक भी प्रकाशित हुआ है 15 अगस्त 2011 को पुस्तक का नाम है – चाह।

इसे भी पढ़े –  शिक्षाकर्मी परिवार का गौरव श्री मोहिन्दर वर्मा

साथियों लेखन कला के धनी और शब्दों पर पूरा अधिकार मधुकर जी की प्रतिभा को निखारता है। और ये प्रतिभा हमारे बीच है।
आप भी अपने जिलें के साथियों की प्रतिभा को प्रांतीय मंच पर लाने हेतु आगे आये। साथियों के बारे में पूर्ण जानकारी व्हाट्स एप्प नंबर 7049036745 में भेजें, साथियों की प्रतिभा हमें ही गौरवान्वित करेगा। आओ एकता के सूत्र में बंधकर इतिहास बनाये।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here